Get all latest Chhattisgarh Hindi News in one Place. अगर आप छत्तीसगढ़ के सभी न्यूज़ को एक ही जगह पर पढ़ना चाहते है तो www.timesofchhattisgarh.com की वेबसाइट खोलिए.

समाचार लोड हो रहा है, कृपया प्रतीक्षा करें...
Disclaimer : timesofchhattisgarh.com का इस लेख के प्रकाशक के साथ ना कोई संबंध है और ना ही कोई समर्थन.
हमारे वेबसाइट पोर्टल की सामग्री केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है और किसी भी जानकारी की सटीकता, पर्याप्तता या पूर्णता की गारंटी नहीं देता है। किसी भी त्रुटि या चूक के लिए या किसी भी टिप्पणी, प्रतिक्रिया और विज्ञापनों के लिए जिम्मेदार नहीं हैं।
गंभीर बीमारियों से जुड़ी भ्रामक जानकारी पहुंचाती थी वेबसाइट, मेडिकल एसोसिएशन ने लिया एक्शन, एफआईआर करने पहुंचा थाने

रायपुर। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने सिविल लाइन थाने में पहुंचकर सोशल मीडिया में किडनी के बीमारी के अति गंभीर एवं डायलिसिस वाले मरीजों को भ्रामक तथ्यों और अंधविश्वास की जानकारी देने वाले वीडियो पर संज्ञान लेने और इसे वायरल करने वाले शख्स पर एफआईआर दर्ज करने पुलिस को ज्ञापन सौंपा।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन रायपुर के डॉक्टर ललित शाह, डॉक्टर महेश सिन्हा, डॉक्टर राकेश गुप्ता, डॉक्टर अनिल जैन,डॉक्टर आशा जैन और डॉक्टर विकास अग्रवाल ने ज्ञापन सौंपते हुए पुलिस को बताया कि इन दिनों सोशल मीडिया और विभिन्न व्हाट्सएप ग्रुप में विश्वरूप नाम के एक शख्स अपने आपको अन्य कई बीमारियों का विशेषज्ञ बता अपनी एक पुस्तक 360 degree Postural medicine का प्रचार और अपनी वेबसाइट http://www.biswaroop.com के बारे में जानकारी देते हुए नजर आ रहे हैं।

वीडियो में कहीं यह बात

5 मिनट के इस वीडियो में विश्वरूप यह कहते नजर आते हैं कि बिस्तर में दोनों तरफ 3 ईंटा लगा देने से मरीज को डायलिसिस की जरूरत नहीं पड़ती। इस वीडियो में फरीदकोट की महिला का नाम लेकर उदाहरण भी दिया जा रहा है, जिसका डायलिसिस पीजीआई चंडीगढ़ में चल रहा था। वीडियो में यह भी कहा जा रहा है कि, डायलिसिस और किडनी ट्रांसप्लांट के निकट पहुंच चुके मरीजों को डायलिसिस की जरूरत नहीं पड़ती।

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन रायपुर ने आशंका जताई है कि सोशल मीडिया पर वीडियो जारी करने वाले शख्स वक्तव्य पूरे देश में किडनी से संबंधित गंभीर मरीजों को भ्रामक जानकारी देकर सही इलाज से दूर कर देगा,जिससे मरीजों के अति गंभीर स्थिति में पहुंचने की प्रबल संभावना है।

कानून का सांकेतिक प्रभाव पड़ा

अपने ज्ञापन में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन से जुड़े डॉक्टरों ने सिविल लाइन थाना पुलिस से अनुरोध किया है कि संबंधित वेबसाइट, वीडियो और किताब पर प्रतिबंध लगाएं और गैर वैज्ञानिक, अंधविश्वास पूर्ण और भ्रामक जानकारी फैलाने संबंधित धारा का इस्तेमाल कर जुर्म दर्ज करें। ताकि इस प्रकार की भ्रामक,अंधविश्वास पूर्ण चिकित्सकीय जानकारी फैलाने वालों पर कानून का सांकेतिक प्रभाव पड़ सके।

Hindi News के लिए जुड़ें हमारे साथ हमारे
फेसबुक, ट्विटरयूट्यूब, इंस्टाग्राम, लिंक्डइन, टेलीग्रामकू और वॉट्सएप, पर

The post गंभीर बीमारियों से जुड़ी भ्रामक जानकारी पहुंचाती थी वेबसाइट, मेडिकल एसोसिएशन ने लिया एक्शन, एफआईआर करने पहुंचा थाने appeared first on The Rural Press.

https://theruralpress.in/website-used-to-send-misleading-information-related-to-serious-diseases-medical-association-took-action-reached-police-station-to-file-fir/