Get all latest Chhattisgarh Hindi News in one Place. अगर आप छत्तीसगढ़ के सभी न्यूज़ को एक ही जगह पर पढ़ना चाहते है तो www.timesofchhattisgarh.com की वेबसाइट खोलिए.

समाचार लोड हो रहा है, कृपया प्रतीक्षा करें...
Disclaimer : timesofchhattisgarh.com का इस लेख के प्रकाशक के साथ ना कोई संबंध है और ना ही कोई समर्थन.
हमारे वेबसाइट पोर्टल की सामग्री केवल सूचना के उद्देश्यों के लिए है और किसी भी जानकारी की सटीकता, पर्याप्तता या पूर्णता की गारंटी नहीं देता है। किसी भी त्रुटि या चूक के लिए या किसी भी टिप्पणी, प्रतिक्रिया और विज्ञापनों के लिए जिम्मेदार नहीं हैं।
Uttarakhand में कुदरती कहर,नैनीताल में हुए भूस्खलन में 9 मजदूर दबे, 5 के शव बरामद, बचाव कार्य जारी

देहरादून। उत्तराखंड (Uttarakhand) के नैनीताल में 5 मजदूरों के मारे जाने की खबर आई है. नैनीताल के रामगढ़ क्षेत्र में 10 मजदूर दब गए थे. इसमें से एक मजदूर को जिंदा निकाला गया है (Uttarakhand) वहीं 5 मजदूरों की लाश बरामद हुई है. अभी भी चार लोगों लापता बताए जा रहे हैं. (Uttarakhand) जिन मजदूरों ने जान गंवाई है वे लोग यूपी और बिहार के हैं और वहां काम करने पहुंचे थे.

नैनीताल में मृत व्यक्तियों के नाम पते:-

1- धीरज कुमार कुशवाहा (पिता का नाम धीरेंद्र प्रसाद), उम्र 24 वर्ष, निवासी ग्राम व पोस्ट बेलवा थाना साठी जिला पश्चिमी चंपारण बिहार.

2- इम्तियाज़, पुत्र नुरआलम, उम्र 20 वर्ष, निवासी ग्राम व पोस्ट बेलवा थाना साठी जिला पश्चिमी चंपारण बिहार.

3- जुम्मेराती, पुत्र तूफानी मिया, उम्र 25 वर्ष, निवासी मच्छर गहवा जिला पश्चिमी चंपारण बिहार

4- विनोद कुमार, पुत्र राधेश्याम, उम्र 21 वर्ष, निवासी माधवपुर  दुल्हापुर थाना जलालपुर जिला अम्बेडकर नगर उत्तर प्रदेश

5- हरेन्द्र कुमार, पुत्र रामदार, उम्र 37 वर्ष, निवासी माधवपुर  दुल्हापुर थाना जलालपुर जिलाअम्बेडकर नगर उत्तर प्रदेश

वहीं घायल का नाम कांशीराम, पुत्र शम्भु राम, उम्र 20 वर्ष है. वह पश्चिमी चंपारण, बिहार के रहने वाले हैं.

बता दें कि नैनीताल के रामगढ़ क्षेत्र में भारी बरसात के बाद हुए भूस्खलन हुआ था, जिसकी वजह से 9 मजदूरों के दबने की खबर आई थी. इनमें से पांच के शव निकाले गए हैं. बताया गया था कि रामगढ़ से छह किलोमीटर दूर सकुना क्षेत्र में काम कर रहे 10 में से 9 मजदूर मलबे के नीचे दब गए थे. कहा जा रहा है कि रात को भूस्खलन की चपेट में आने से मकान की दीवार गिर गई जिसमें ये मजदूर दब गए थे.

https://www.khabar36.com/natural-havoc-in-uttarakhand/